Home All Wishes Motivational story on success in Hindi | Sandeep Maheshwari Motivational Quotes

Motivational story on success in Hindi | Sandeep Maheshwari Motivational Quotes

437
0
SHARE

Motivational Stories in Hindi बदल देगीं आपकी जिंदगी

सभी के जीवन में एक समय ऐसा आता है जब सभी चीज़ें आपके विरोध में हो रहीं हों और हर तरफ से निराशा मिल रही हो| चाहें आप एक प्रोग्रामर हैं या कुछ और, आप जीवन के उस मोड़ पर खड़े होता हैं जहाँ सब कुछ ग़लत हो रहा होता है| अब चाहे ये कोई सॉफ्टवेर हो सकता है जिसे सभी ने रिजेक्ट कर दिया हो, या आपका कोई फ़ैसला हो सकता है जो बहुत ही भयानक साबित हुआ हो | लेकिन सही मायने में, विफलता सफलता से ज़्यादा महत्वपूर्ण होती है | हमारे इतिहास में जितने भी बिजनिसमेन, साइंटिस्ट और महापुरुष हुए हैं वो जीवन में सफल बनने से पहले लगातार कई बार फेल हुए हैं | जब हम बहुत सारे कम कर रहे हों तो ये ज़रूरी नहीं कि सब कुछ सही ही होगा| लेकिन अगर आप इस वजह से प्रयास करना छोड़ देंगे तो कभी सफल नहीं हो सकते |Motivational story on success in Hind

अल्बेर्ट आइनस्टाइन जो 4 साल की उम्र तक कुछ बोल नहीं पता था और 7 साल की उम्र तक निरक्षर था | लोग उसको दिमागी रूप से कमजोर मानते थे लेकिन अपनी थ्ओरी और सिद्धांतों के बल पर वो दुनिया का सबसे बड़ा साइंटिस्ट बना |अब ज़रा सोचो कि अगर हेनरी फ़ोर्ड पाँच बिज़नेस में फेल होने के बाद निराश होकर बैठ जाता, या एडिसन 999 असफल प्रयोग के बाद उम्मीद छोड़ देता और आईन्टाइन भी खुद को दिमागी कमजोर मान के बैठ जाता तो क्या होता?

हम बहुत सारी महान प्रतिभाओं और अविष्कारों से अंजान रह जाते |

तो मित्रों, असफलता सफलता से कहीं ज़्यादा महत्वपूर्ण है…..

असफलता ही इंसान को सफलता का मार्ग दिखाती है। किसी महापुरुष ने बात कही है कि –

“Winners never quit and quitters never win”

जीतने वाले कभी हार नहीं मानते और हार मानने वाले कभी जीत नहीं सकते

आज सभी लोग अपने भाग्य और परिस्थियों को कोसते हैं। अब जरा सोचिये अगर एडिसन भी खुद को अनलकी समझ कर प्रयास करना छोड़ देता तो दुनिया एक बहुत बड़े आविष्कार से वंचित रह जाती। आइंस्टीन भी अपने भाग्य और परिस्थियों को कोस सकता था लेकिन उसके ऐसा नहीं किया तो आप क्यों करते हैं।

अगर किसी काम में असफल हो भी गए हो तो क्या हुआ ये अंत तो नहीं है ना, फिर से कोशिश करो, क्योंकि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। मित्रों असफलता तो सफलता की एक शुरुआत है, इससे घबराना नहीं चाहिये बल्कि पूरे जोश के साथ फिर से प्रयास करना चाहिये..

Best Inspirational Motivational Stories for Students in Hindi

एक समय की बात है किसी गॉवो, में एक गुफा थी जिसे लोग मौत गुफा के नाम से जानते थे |कोई भी उसके आस पास भी नहीं जाना चाहता था | और ऐसा इसलिए था क्यों की उस गुफा में आज तक जो भी गया था कभी वापस लौट कर नहीं आया | लोग उस गुफा के बारे में सोचकर डर जाते |अब उस गुफा में लगभग ३००  लोग जा चुके थे और कोई भी लौटकर नहीं आया |उसी गाओं में एक युवक आया | और उसे इन सब बातो पर यकीन नहीं हुआ की आज  के ज़माने में ऐसा कही होता है | उसने तय किया वह उस गुफा में जाएगा | पर जैसे ही गाओं के लोगो को ये पता चला की वह युवक उस गुफा में जा रहा है |  तो सब उसके घर के पास इक्कठे हो गए और उसे समझने लगे की तुम आखिर क्यों जाना चाहते हो |

Read Also

अगर गए भी तो लौट कर वापस नहीं  आ पाओगे | पर उसने उन सब लोगो की बात नहीं सुनी और अगले दिन सुवह ही वह उस गुफा की तरफ गया | और गुफा में अंदर जाते ही कुछ आगे जाने पर बहुत अँधेरा था | धीरे धीरे वह गुफा में काफी अंदर  आ गया | तभी उसके लगा कोई उसका पिच कर रहा है और किसी ने पीछे से उसे धक्का दिया | युवक  ने पीछे पाटकर देखा  तो वहां ४ आदमी खड़े थे | वो उसे बंद कर एक जगह ले गए | उसने देखा वो जगह बहुत ही अच्छी थी और सभी सुख सुविधायो से सुसज्जित थी |
उन ४ आदमियों ने उसे बतया हम सभी भी इस गुफा में आये थे | पर यहं इतनी सुभिधा देखकर यही रुक गए |
तुम्हे डरने के लिए हमने तुम्हे धक्का दिया .और वह युवक भी उसी जगह रुक गया | बाकि गाओं वालो काहां वहम और पक्का हो गया की कोई भी लौटकर नहीं आता उस गुफा से |Motivational story on success in Hind

 

दोस्तों मैं मानता हूँ अगर शिद्दत हो कुछ पाने की तो आईएएस तो क्या कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है ! एक लक्ष्य हो , एक जूनून हो , थोड़ा हौसला हो , और थोड़ी सी जिद हो तो सारी दुनिया आप अपने कदमो में झुका सकते हो ………

Read More>>

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here